चौरई तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम कौआखेड़ा के बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों ने सरकार से की मुआवजे की मांग बाढ़ से क्षतिग्रस्त हो चुके थे मकान कुछ को मिला मुआवजा तो कुछ रह गए वंछित

  • छिंदवाड़ा टुडे न्यूज़ चौरई तहसील के अंतर्गत आने वाले ग्राम कोआखेड़ा के बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों ने दिन मंगलवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय में जन सुनवाई के दौरान आवेदन प्रस्तुत किया था ग्रामीणों ने बताया कि 3 से 4 बार ग्रामीण कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर जनसुनवाई में आवेदन दे चुके हैं लेकिन अभी तक ग्रामीणों कोमुआवजा राशि नहीं मिली सितंबर माह में जो मूसलाधार बारिश हुई थी उस बारिश से ग्राम कोआखेड़ा में बहुत से मकान क्षतिग्रस्त हुए थे प्रशासन द्वारा ग्रामीणों को एक जगह भी दी गई थी जीस जगह पर ग्रामीण बाढ़ के पानी से बच सकें बाढ़ से ग्रामीणों को नुकसान भी हुआ थाकुछ ग्रामीणों को मुआवजा राशि मिली वहीं कुछ ग्रामीण मुआवजा राशि से वंछीत रह गए ग्रामीणों की स्थिति कुछ ऐसी है कि ग्रामीणों को प्लास्टिक के तंबू तान कर अपना गुजर-बसर करना पड़ रहा है कुछ ग्रामीण तो ऐसे भी हैं जिनके पास प्लास्टिक खरीदने के भी पैसे नहीं है जो कि खुले आसमान में अपना गुजर-बसर कर रहे हैं कुछ ग्रामवासी कोआखेड़ा सरकारी स्कूल में रहकर अपना जीवन यापन कर रहे हैं ग्रामीणों ने जानकारी देते हुए बताया कि कुछ ग्रामीणों को एक लाख रुपए कि मुआवजा राशि मिली लेकिन एक लाख रुपए में घर बना पाना मुश्किल है कुछ घर आधे बनकर तैयार हो चुके हैं लेकिन अब ग्रामीणों के पास स्लिप डालने का पैसा भी नहीं है बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों के पास उत्तम रोजगार की व्यवस्था भी नहीं है तो ग्रामीण अपना मकान कैसे बनाएंगे ग्राम कोआखेड़ा के ग्रामीणों ने सरकार से मुआवजे की मांग की है जिससे ग्रामीण अपना टूटा हुआ आशियाना फिर से बना सके और भविष्य में आने वाली बाढ़ ओर परेशानियों से बच सके।
  • ब्यूरो रिपोर्ट छिंदवाड़ा टुडे न्यूज
  • खबरों एवं विज्ञापनों के लिए संपर्क करें।
    9425636398,9399812052

[ays_slider id=1]

इसे भी पढे ----

वोट जरूर करें

[poll id]

आज का राशिफल देखें 

Buero Report